Software क्या होता है | सॉफ्टवेयर के प्रकार पूरी जानकारी

आज के इस पोस्ट में हम बात करने जा रहे है की Software क्या होता है और ये किस प्रकार काम करता है. वैसे तो आज के वक़्त सायद ही कोई व्यक्ति होगा जिसको Software क्या है इसके बारे में पता ना हो पर हम आपको बता दे की बहुत से लोग एसे भी है जिनको इन सब चीजो के बारे में कोई खबर नहीं होती है

मगर उन सभी लोगो को फ़िक्र करने की जरुरत नहीं है, क्यूंकि आज का ये Post उन सभी लोगो के लिए है. जिनको  Software क्या होता है इसके बारे में कोई जानकारी नहीं होती है. किन्तु लेकिन जिन लोगो को Computer, Technology, और Mobile Phone का ज्ञान होता है वो software इत्यादि के बारे में बहुत अच्छे से जानते है.

Software क्या होता है
Software क्या होता है

देखा जाये तो बिना सॉफ्टवेयर के आप सायद ही किसी Technical सुविधा का इस्तेमाल कर सकते है. क्यूंकि हर जगह आपको Software kya hai in Hindi के बारे में देखने को मिल जाता है.

क्यूंकि आप Software की मदद से वो सभी काम बड़ी आसानी से कर सकते है जिन कामो को किसी इन्सान के लिए करना बहुत ही मुस्किल होता है.

यदि आप एक कंप्यूटर या लेपटोप को देखते है तो वो आपको देखने में बहुत ही साधारण सा Device दिखाई देता है. किन्तु ऐसा नहीं है आपको Computer in Hindi में एसे एसे Software देखने को मिलते है जिनका इस्तेमाल कर आप अपने काई घंटो का काम मिनटों में कर सकते है.

और इन सब चीजो के आने के बाद हमारी Life बहुत बदल चुकी है हर कोई चाह्ता है. की उसका सारा काम उसके मोबाइल या कंप्यूटर से हो जाये उसके कही आना जाना ना पड़े ये तो लोगो के नजरिये पर निर्भर करता है की ये सब सुविधाए उसके लिए अच्छी है. या नहीं यदि हम कहे तो in सब चीजो का फायदा और नुकशान इस्तेमाल करने वाले पर निर्भर करता है की वो किस तरीके से Software in hindi का इस्तेमाल करते है.

तो चलिए हम software क्या होता है और सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते है. इन सभी बातो को थोडा और गहराई से जान लेते है. जिससे आपको भीं अच्छे से मालूम पड़ सके की ये हमारे लिए कितना सही है और कितना गलत है.

सॉफ्टवेयर क्या है – What is Software in Hindi

अब हम आपको साधारण सब्दो में समझाने की कोशिश करते है की Software kise kahte hai जैसे की हम अपने (Laptop) या Computer का इस्तेमाल करते है. उसके अन्दर हम जितने भी काम करते है वो सारे काम हम software की मदद से कर पाते है.

जब आप किसी चीज पर काम कर रहे होते है जैसे ही आप Commands देते है. तो वैसे ही सॉफ्टवेयर अपना काम करना सुरु कर देता है और आपकी दी हुई कमांड का काम सुरु हो जाता है.

और हम आपको ये भी बता दे की हर एक Software की अलग Speed और Commands को पूरा करने की अलग अलग निति होती है. जैसे की में आपको कुछ सॉफ्टवेयर के नाम बताता हूँ उससे आप अंदाजा लगा सकते है MS Word, Photoshop, Note Pad, Excel, UC Browser, Google Chrome, और भी बहुत से सॉफ्टवेयर होते है. जिससे आप अंदाजा लगा सकते है और हाँ आपको इस बात का भी ध्यान रखना होता है की आप जिस भी तरीके का सॉफ्टवेयर Use करते है उसके सभी  Software Update रखना होता है

सॉफ्टवेयर के प्रकार – Types Of Software

सॉफ्टवेयर के प्रकार
सॉफ्टवेयर के प्रकार

क्या आपको पता है की आम तोर पर सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते है  हम आपको बता दे की सॉफ्टवेयर Normally 3 प्रकार के होते है जिनके बारे में आप निचे देख सकते है

  • Utility Software:- कंप्यूटर का एक ऐसा सॉफ्टवेयर होता है जो आपके Device को Maintenance, Configure, Troubleshooting, Optimize करने में आपकी मदद करता है. और ये सभी चीजे एक Utility Software के अन्दर आती है  इसलिए आप देखेगे तो आपको पता चलेगा की यूटिलिटी सॉफ्टवेयर operating system के साथ ही आते है. Disk Management, Disk Cleanup, Disk Defragmenter, Windows Defender, Resources Monitor, आदि और हम आपके ये भी बता दे की Utility Software को Utilities, या Utility के नाम से भी जाना जाता है.

 

  • Application Software:- ये एक एसे तरीके का Software होता है जिसको सिर्फ इस लिए बनाया जाता है ताकि वो इस्तेमाल करने वाले को help कर सके और ये सिर्फ एक निश्चित काम को ही करता है. और इन्ही तरह के सॉफ्टवेयर को एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के नाम से जाना जाता है ये देखने में सभी Software से अलग होते है.

 

  •  System Software:– सिस्टम सॉफ्टवेयर एसे Program को कहा जाता है जो Device चालू रखने और Work करने के लिए बनाया जाता है. साथ ही System Software ही एक मात्र ऐसा सॉफ्टवेयर होता है जो आपको Hardware, application को चलाने में मदद करता है.

सॉफ्टवेयर कौन बनाता है?

सॉफ्टवेयर को हर कोई नहीं बना सकता है इसको बनाने के लिए आपको इस Feld का अच्छे से ज्ञान होना बहुत जरुरी है. तभ जाके आप एक Software develop कर सकते है इतना तो आप भी जानते है की सॉफ्टवेयर डेवलपर ही किसी सॉफ्टवेयर को बना सकता है.

और इस तरह के लोग Software Product Development Company में ही मिल सकते है और ये लोग लोगो की जरुरत के हिसाब से ही किसी सॉफ्टवेयर को बनाते है. जैसा उन लोगो को चाहिए होता है और इन कामो में बहुत पैसा और समय भी लगता है तक जाके एक Software बन के त्यार होता है

सॉफ्टवेयर कैसे बनाते है

Software kaise banate hai सबसे पहले हमको सॉफ्टवेयर बनाने के लिए Programing Language की जरुरत पड़ती है. और कुछ Tool की भी जरुरत होती है जिसकी मदद से आप Software बना सकते है

जिसको हम Integrated development environment के नाम से भी जानते है और अब आप निचे देख सकते है उन सभी Tool के बारे में जिनकी help से आप Software develop कर सकते है

  • Android Studio
  • PyCharm
  • Adobe Dreamweaver
  • Microsoft Visual Studio
  • XCode
  • Intellij IDEA
  • Atom
  • NetBeans
  • Eclipse
  • Code::Blocks

Step 1:

अब आपको ये करना है की ऊपर दिए गए किसी भी एक Tool को Install करना है. टूल को इनस्टॉल करते समय इस बात का खास ख्याल रखे की आप किस तरह की Cording के लिए कोन से Tool का इस्तेमाल करना है. हमें वही टूल का इस्तेमाल करना चाहिए जिस प्रकार की हम प्रोग्रमिनिग लैंग्वेज का यूज़ करना चाहते है.

जैसे के आप मान लीजिये की आप python language का इस्तेमाल कर रहे है तो उसके लिए आपको Pycharm टूल की जरुरत पड़ती है.

यदि आप आईडीई टूल का इस्तेमाल करते है तो आपको इसमें वो सभी चीजे देखने को मिलेगी जिन सबकी जरुरत एक सॉफ्टवेयर बनाने के लिए पड़ती है. और ये tool आपको बहुत सी सुविधाए भी देता है जैसे इसमें आपको Code को  Automatic Generate करने की छमता देखने को मिलती है.

Step:

उसके बाद आपको ये निश्चित करना होता है की आप किस Device के लिए Software बना रहे है. हम आपको ये बताना चाहते है की दो तरह के सॉफ्टवेयर होते है पहले जो Internet के बिना नहीं चल सकते है और दुसरे वो जो बिना इन्टरनेट भी इस्तेमाल किये जा सकते है.

ये तो उस User पर निर्भर करता है जो आपसे सॉफ्टवेयर बनवाने आयेगा या तो वो खास तोर पर अपने लिए बनवाएगा या तो लोगो के यूज़ के लिए और उस सॉफ्टवेयर की कोडिंग उस सॉफ्टवेयर के हिसाब से ही की जाएगी

Step:

इसके बाद जैसे ही आप ये सभी काम कर लेते हो अब आपको बनाए गए सॉफ्टवेयर की Testing करनी है. और सभी तरह की जाच के बाद ही आप इस Software को launch कर सकते है और आपको ये भी पता होना चाहिए की सॉफ्टवेयर को भी टेस्ट करने के लिए भी सॉफ्टवेयर की ही जरुरत पड़ती है

सॉफ्टवेयर का हिंदी अर्थ

अब हम जान लेते है की सॉफ्टवेयर का हिंदी अर्थ क्या होता है इसका मतलब है की इंस्ट्रक्शन और प्रोग्राम्स के कलेक्शन को ही सॉफ्टवेयर के नाम से जाना जाता है और यही चीज यूजर को कंप्यूटर को यूज़ करने की शमता देता है

आप ये तो जानते ही होगे की ये जो Operating System है इसको सबसे पहले Android OS में देखा गया था और in ही सभी तरीके के सॉफ्टवेयर को हर कोई Mobile Phone, Computer, Laptop, Tablet, आदि में Install करके इस्तेमाल किया जाता है

सॉफ्टवेयर और पार्ट्स क्या है

सॉफ्टवेयर पार्ट्स
SpreadsheetMS Excel
Photo / Graphics programCorelDRAW, Adobe PhotoShop
UtilityCompression, Disk Cleanup, Encryption, Registry cleaner, Screensaver
GameMadden, NFL Football, Quake, World of Warcraft
DatabaseAccess MySQL SQL
Operating systemmacOS, Android, iOS, Linux, Windows
Audio / Music programiTunes, WinAmp
Word processorMS Word
Device driversComputer drivers
Programming languageVisual Basic (VB), C++, HTML, Java, Perl
AntivirusAVG, Housecall, McAfee, Norton
Internet browser Internet Explorer, Firefox, Google Chrome
PresentationPowerPoint
E-mailOutlook, Thunderbird
SimulationFlight simulator SimCity
Movie playerVLC, Windows Media Player

आज अपने क्या शिखा

दोस्तों में आसा करता हूँ की की आपको हमारी Software क्या होता है ये पोस्ट आपको पढने के बाद अच्छी लगी होगी. और आपको ये भी समझ आया होगा की  सॉफ्टवेयर के प्रकार पूरी जानकारी इसके बारे में पूरी जानकारी मिल चुकी होगी.

आपको हमारा ये Article अच्छा लगा होगा आप इसको अपने दोस्तों घर वालो और Social Mediaपर Shear कर सकते है. और हम आपके लिए अच्छे पोस्ट पढने के लिए लाते रहते है जिससे आपकी Knowledge बडती रहे.

यदि आपके मन में किसी भी प्रकार का कोई भी सवाल चल रहा हो आप हमसे Comment के जरिये पूछ सकते है. और हमारी याकि कोशिश रहती है की आपके पूछे गए सभी सवालो का जल्द से जल्द जवाब दे सके.

Leave a Comment