SEO क्या है? और SEO कैसे काम करता है | What is SEO in Hindi

आज के इस Post में हम बात करने वाले है की SEO क्या है और SEO कैसे काम करता है. यदि आप Blogging के बारे में थोडा बहुत ज्ञान रखते है. तो आपको ये जरुर पता होगा की SEO क्या होता है और ये किसी भी Post या Websites को Rank करने में कितनी मदद करता है.

यदि बात करे SEO की तो आप चाहे कितनी ही अच्छी Site और Post क्यों ना बना लो अगर अपने उसमे SEO का इस्तेमाल नहीं किया तो वो किसी काम का नहीं है. और Google भी उस पोस्ट को लोगो के सामने नहीं दिखायेगा इसलिए यदि आप Website और Post को रैंक करना चाहते है तो SEO का यूज़ जरुर करे.

आज के समय Google के First Page पर Rank करना बहुत ही मुस्किल हो गया है क्यूंकि आज के वक़्त Competition बहुत बड चूका है. इसीलिए आपको अपने पोस्ट में बहुत अच्छा SEO करना होगा तभी जाके आप गूगल के पहले पेज पर रैंक कर सकते है.

और बात करे तो बहुत से वक्ति [What is SEO in Hindi] के बारे में जानते ही नहीं है SEO किसे कहते है. यदि आप एसईओ की बात करे तो आपको मार्किट में बहुत से Institutes देखने को मिल जायेगे जो आपको SEO Expert in Hindi बनाने का दावा करते है.

What is SEO in Hindi
What is SEO in Hindi

ये बात आपको जरुर पता होना चाहिए की कोई भी आपको SEO Expert नहीं बना सकता है. बस वो आपको SEO करते कैसे है ये सिखा सकते है क्यूंकि कोई भी वक्ति एसईओ माहिर नहीं बन सकता है. और वो इसलिए Google इसमें हमेसा बदलाव करता रहता है. जिससे कोई भी इस पर अपनी पकड़ नहीं बना सकता है.

तो चलिए हम जान लेते है SEO क्या है हिंदी में और सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन क्या है इसको कैसे इस्तेमाल करते है. उसके लिए आपको इस Article को आखिर तक जरुर पढना होगा तभी जाके आप एसईओ क्या है अच्छे से समझ पाओगे.

एसईओ क्या है – What is SEO in Hindi

हम SEO in Hindi को सरल भाषा में समझने की कोशिस करते है आप Google के Search Engine पर कुछ भी सर्च करते है. जैसे HD Wallpaper तो आपको गूगल के पहले Page पर बहुत सारे Result देखने को मिल जाते है. और वो सब आपको इस लिए देखने को मिलते है क्यूंकि उन्होंने अपने Post पर बहुत अच्छे तरीके से Advance SEO किया होता है तभी उनकी पोस्ट गूगल के पहले पेज पर दिखाई देती है..

वेसे तो SEO हर एक Online Platform में यूज़ किया जाता है लेकिन SEO in Hindi हर एक जगह अलग तरीके से इस्तेमाल किया जाता है. पहले आप ये जान लीजिये की सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कहाँ कहाँ यूज़ किया जाता है.

  • Facebook
  • Instagram
  • Youtube
  • Twitter
  • Blogs
  • Websites
  • E-Commerce

और भी बहुत से Platform है जहाँ इसका यूज़ किया जाता है और आपको ये बात भी पता होनी चाहिए की SEO को समझने के लिए लोगो को सालो लग जाते है.

लेकिन हम बात करेगे की Blog SEO कैसे करते है सबसे पहले आपको अगर अपने Article को Rank करवाना है. तो उसके लिए आपके आर्टिकल को SEO Friendly होना बहुत जरुरी है और उसके लिए आपको निम्न बातो का ध्यान रखना चाहिए .

SEO कैसे करे?

  1. आपको सबसे पहले अपने Post में Keyword का अच्छे से इन्स्तेमल करना होगा. साथ ही हर एक Paragraph में छोटे कीवर्ड से लेकर बड़े कीवर्ड का यूज़ जरुर करे जिससे की आपको Google First में रैंक होने में मदद मिलेगी.
  2. और आपको इस बात का ख्याल लखना है जो भी Images का आप इस्तेमाल करोगे उसका Optimize होना बहुत जरुरी है.
  3. जिस भी Keyword को आप अपने H1 या मेन हैडिंग में रखना चाहते है उस कीवर्ड को आपको चेक करना है की उसको Monthly कितने लोग Search करते है.
  4. यदि आपने कोई New Blog & Website Start किया है तो आपको उसे गूगल के पहले पेज पर रैंक करने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ती है. साथ ही आपको Low Volume वाले Keyword को ही Target करना चाहिए तभी जाके आप धीरे धीरे Rank पर आना सुरु करेगे.
  5. देखा जाये तो आपकी वेबसाइट की Page Authority, और Domain Authority भी बहुत Important role रखती है आपको रैंक करवाने में.
  6. ये सब करने के बाद जब आपकी Post Google पर रैंक करने लग जाती है तो उससे आप अच्छा खासा पैसा कम सकते है. और आप यहाँ तक तो समझ गए होगे की SEO क्या है? और SEO कैसे काम करता है चलिए हम इसके बारे में थोडा विस्तार से जान लेते है.

एसईओ कितने प्रकार के होते है – Type Of SEO in Hindi

वैसे तो SEO in Hindi दो प्रकार का होता है सबसे पहला On Page SEO और दुसरे नंबर पर Off Page SEO जिसका यूज़ करके अपनी Post को Google में रैंक करवा सकते है. पर एक और एसईओ होता है जिसको हम Local SEO बोलते है. तो चलिए थोडा गहराई से जान लेते है एसईओ कितने प्रकार के होते है.

  • ON Page SEO
  • Off-Page SEO
  • Local SEO

1. ON Page क्या है?

ON Page SEO kya hai
ON Page SEO kya hai

ऑन पेज एसईओ क्या है इसके अन्दर आपके Website का Theme SEO Friendly होना बहुत जरुरी है. यदि आपको पता होगा तो ब्लॉग में जितनी भी Individual चीजे है वो सभी On Page SEO के अन्दर आता है. ऑन पेज एसईओ आपको अपनी वेबसाइट पर Traffic लाने में मदद करता है.

और साथ ही साथ आपको SEO खोज इंजन में रैंक करने और आपकी Site, को गूगल की नजर में लाने के लिए भी बहुत जरुरी है. और आप इस बात का ध्यान रखे की जो भी Theme खरीदते हो उसे बड़े ध्यान से चुनना चाहिए क्यूंकि ये बहुत जरुरी है.

ऑन पेज एसईओ इन हिंदी Blog के अन्दर Title, Meta Description, Post, Heading, Keywords, और भी बहुत सी चीजे जरुरी होती है तो चलिए इन सभी के बारे में विस्तार से बात कर लेते है.

On-Page SEO कैसे करे?

वैसे तो On Page SEO में बहुत सारे तरीके है जिसका यूज़ करके आप पोस्ट को बेहतर बना सकते है. पर हम आपको कुछ Common तरीको के बारे में बताने जा रहे है, जिसका यूज़ करके आप एक SEO Friendly Article त्यार कर पाओगे, और अपने ब्लॉग को गूगल के सर्च इंजन पर दिखा सकते है.

Keyword Research

आप Keyword Research को SEO का Backbone कह सकते है क्यूंकि ON Page SEO में पहले कीवर्ड रिसर्च सबसे जरुरी होता है. यदि आप बिना Keyword रिसर्च के पोस्ट तो त्यार करते है तो ये आप बहुत बड़ी गलती कर रहे है. चाहे आप कितनी ही अच्छी पोस्ट क्यों ना लिख लो उसका कोई फायदा नहीं है यदि आप Keyword का इस्तेमाल नहीं करते है.

अगर आप कोई एक Post लिख रहे है जैसे Internet क्या है तो सबसे पहले आपको ये देखना है. उस कीवर्ड की Monthly Valume क्या है और इसकी SEO Difficulty कितनी है आपको कुछ बातो का खास ध्यान रखना है. जैसे :- जो कीवर्ड का वॉल्यूम है वो 500-1K बिच होना चाहिए यदि आप एक New Blog सुरु कर रहे है तो आपको इन सभी बातो का ध्यान जरुर रखना होगा.

Title और Heading

आपको हमेशा अपने ब्लॉग पोस्ट के टाइटल को आकर्षक बनाना चाहिए जिसमे आपका कीवर्ड भी आ जाये साथ ही Title देखने लायक हो. और ये करने से होगा ये की आपकी Site का  CTR काफी बढेगा इसी के साथ आपकी रैंकिंग में भी काफी असर पढता है.

आप जब भी आर्टिकल लिखते है तो आपको Heading का भी खास ध्यान रखन होता है क्यूंकि जब भी आप H1 का उपयोग करते है. तो उसके बाद आप दोबारा H1 का यूज़ नहीं कर सकते है आपको उसके बाद H2, H3, H4, H5,  H6, का ही इस्तेमाल करना होता है. और जो आपकी H2 H3 हैडिंग होगी उसमे आपको अपने Focus Keyword का इस्तेमाल करना चाहिए.

Meta Description

मेटा डिस्क्रिप्शन भी एक बहुत ही एहेम रोल निभाता है आपको इसके अन्दर एक छोटा सा Description देना होता है. और इस बात का भी ख्याल रखे की जो भी आपका Focus Keyword वो आपके मेटा डिस्क्रिप्शन में जरुर होना चाहिए, ये भी आपको Ranking में help करता है.

URL Structure

आपको जितना हो सके अपने URL को छोटा और जो भी आपका Main Keyword है. उसका यूज़ करना होगा जिससे User समझ जाये की जो वो ढूंड रहा है वो सब कुछ आपके आर्टिकल में मोजूद है.

Website Speed

website स्पीड भी एक बहुत खास रोल निभाती है साईट की गति आपकी साईट की रैंकिंग में help करता है अगर आपकी website की Speed नहीं है. तो कोई भी आपकी साईट पर नहीं आयेगा क्यूंकि किसी के पास इतना Time नहीं है. जो आपकी साईट खुलने का इंतजार करता रहे उसको जो भी चाहिए वही चीज दूसरा भी बता रहा है वो वह जाके भी पढ़ सकता है.

और इसका बहुत ख़राब असर पढ़ेगा आपकी Site पर साथ ही आपकी रैंकिंग जो है. वो भी गिरने का डर रहता है जिसके लिए आप SEO फ्रेंडली (Theme) का यूज़ करे जिससे की आपको इस प्रकार की दिक्कत का सामना ना करना पढ़े.

Google Meet क्या है? और कैसे यूज़ करे पूरी जानकारी

IP Address क्या है और आई पी एड्रेस कैसे पता करे

Google AdSense क्या है | और कैसे काम करता है पूरी जानकारी

Image Optimization

अब बात करे की Image Optimization क्यों जरुरी है एक Blog या Post के लिए ये इस लिए जरुरी है. जब भी कोई वक्ति आपके ब्लॉग में आता है. और उसे लेट इमेज लार्ड देखने को मिलती है तो हो सकता है की वो ज्यादा देर आपकी साईट में ना रुके.

Image लेट खुलने का बस एक ही कारण होता है की आपकी इमेज का साइज़ बहुत ज्यादा है जीके वजह से वो बहुत देर से Open हो रही है.

Internal और Outbound Link

ओन पेज के अन्दर जो भी हम Internal और Outbound Link का इस्तेमाल करते है वो इस लिए किया जाता है. ताकि जो भी वक्ति आपके पोस्ट में आता है उसको वहां पर उसको Reated Link देखने को मिल जाता है तो वो उस पर Click करके देख या पढ़ सकता है.

Internal Link:- इंटरनल लिंक का ये मतलब होता है, जब आप अपने किसी एक आर्टिकल के अन्दर किसी दुसरे Article का Link देते हो उसे ही हम Internal Link कहते है. जिससे user आपके एक Article से दुसरे Article में जा सके क्यंकि इससे आपका Bounce Rate कम हो और आर्टिकल की रैंकिंग भी बढे.

Outbound Link:- आउटबाउंड लिंक का मतलब ये होता है जब आप किसी दूसरी Website का लिंक अपनी Site में डालते है उसे ही हम Outbound Link कहते है. इसीलिए आप अपनी  हर एक पोस्ट के अन्दर 2, 3 लिंक जरुर इस्तेमाल करना चाहिए इससे Google की नजर में आपकी साईट पे अच्छा प्रभाव पड़ता है.

Blog Design

बात करे की आपका जो ब्लॉग का डिजाईन है. वो कैसा होना चाहिए जब भी आप किसी भी प्रकार की वेबसाइट बनाते हो या तो बनवाते हो उसको एसे बनाइये जो भी User आये उसे ऐसा ना लगे की आपकी Site देखने में अच्छी नहीं लग रही है.

वो कहते है ना की जो दीखता है वही बिकता है, अगर आपका ब्लॉग का डिजाईन अच्छा होगा तो लोग ज्यादा देर तक रुकेगे जिससे आपकी साईट के लिए काफी बेहतर होता है.

Off-Page SEO क्या है

Off-Page SEO क्या है
Off-Page SEO क्या है

SEO क्या है अपने ये तो जान लिया अब आपको ये भी जान लेना चाहिए की Search Engine Optimization के अन्दर ऑफ पेज SEO कितना  एहमियत करता है. अगर आप ये सोचते है की खली आर्टिकल लिखने से आपका काम ख़तम हो जाता है तो ये आपकी बहुत बड़ी गलत्फेमी है.

Off Page SEO के अन्दर बहुत सी चीजे आती है, जिनका खास ध्यान रखना होता है जैसे:- Social Media Sharing, Backlink, Search Engine Submission, Web Directory Submission, और भी बहुत सी चीजे होती है जिसकी वजह से आपका Article Rank करने लायक बनता है.

 Backlink बनाए?

जब भी आप ऑफ पेज एसईओ करते है उसके लिए आपको बहुत अच्छे से एसईओ करना होता है. क्यूंकि सबसे ज्यादा बेक्लिंक ही जरुरी होते है यदि आपकी किसी हाई DA PA वाली Website से Backlink मिल जाता है. तो Google के Boot को एक संकेत मिलता है की एक बड़ी वेबसाइट ने किसी छोटी वेबसाइट का Link अपनी Site पर दिया है.

क्यूंकि एक बड़ी साईट पर गूगल को पहले से ही बहुत भरोसा होता है, इसी वजह से Google आपकी Website को भी रैंक करने लगता है इसीलिए कहते है की हमें Backlink जरुर बनाने चाहिए ताकि आपकी रैंकिंग बढ़ सके.

Off Page SEO कैसे करे

तो चलिए अब में आपको बताता हूँ की ऑफ पेज एसईओ कैसे करे और हमे इसके बारे में कुछ Techniques का पता होना बहुत ही जरुरी है . ताकि आप आसानी से Off Page SEO कर सके, इस बात का भी खास ख्याल रखे जो हम आपको बताने जा रहे है. उन सभी चीजो का आपको अच्छे से यूज़ करना है .

1. Bookmarking: – आपको अपने Website या Blog को किसी बुकमार्किंग वाली Site में Submit करना होगा.

2. Search Engine Submission: – आपको अपनी वेबसाइट को चाहे वो English हो या तो Hindi उसको सभी सर्च इंजन में Submit करना चाहिए.

3. Directory Submission: – आपका जो भी Website या Blog है उसको आपको (Popular High PR) वाली डायरेक्टरी में सबमिट जरुर करना चाहिए.

4. Social Media: – आपको अपनी साईट को सोशल मीडिया पर Profile बनाके अपनी Site का URL Whatsapp, Facebook, Twitter, Medium.com, Quora, और भी बहुत से Platform पर Share कर सकते है.

5. Pin: – आप अपनी वेबसाइट को Pinterest पर शेयर कर सकते है क्यूंकि आप इसकी मदद से भी अपनी Site का Traffic  बढ़ा सकते है.

6. Guest Post: – यदि आपकी किसी भी प्रकार की कोई भी Website है. चाहे वो News, Technology, Review, आदि कोई भी साईट क्यों ना हो बस आपको अपनी Site से मिलती जुलती साईट कोई देखना है, और उसको गेस्ट पोस्ट के लिए Mail करना है.

जिससे होगा ये की आपको एक DO-follow backlink मिल जायेगा जिससे आपका traffic काफी हद तक बढ़ जायेगा.

7. Classified Submission: – आपको Google में जाके Free Classified Site देखनी है इन Website से होगा ये की आप अपनी साईट को बिलकुल फ्री में Advertise करवा सकते है.

8. Commenting Blog: – आप जिस चीज के ऊपर ब्लॉग लिखते हो उसी तरह की साईट में जाके आपको Comments करना है और वहां पर आपको अपनी साईट का Link add करना है.

एक बात का और ध्यान रखना आपको उसी Website पर अपना Link डालना है जिसमे Comments की जगह पर Webiste का Option दे रखा हो.

Local SEO क्या है?

बहुत से लोगो का यही सवाल रहता है के Local SEO क्या है? यदि आप इसको ध्यान से समझे तो पता चलेगा की इसका जवाब इसी के नाम के अन्दर छुपा है.

आप लोकल एसईओ को अपनी Site के Optimizetion के तोर पर भी मान सकते है, क्यूंकि ये आपको Google Search Engine के अन्दर रैंकिंग पाने में मदद करता है.

जब एक Local SEO in Hindi की बात आती है, तो हम इसका इस्तेमाल तभी करते है जब हमको किसी एक Paticular Locality को Target करना होता है.

Local एसईओ में आपको काई सारी चीजे Optimize करना होता है जैसे:- Address, State Name, और भी बहुत कुछ जो आपकी Website को Online ही नहीं बल्कि Offline भी दिखा सके जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग आपकी Site के बारे में जान पाते है.

Local SEO उदहारण

क्या आपका किसी प्रकार का कोई लोकल बिज़नस है, अगर है तो आपको Local SEO का पता होना बहुत जरुरी है. जैसे की मान लीजिये की आपकी एक Toy Shop है और वह लोगो का आना जाना लगा रहता है. और एसे में अगर आप अपनी website को optimize कर लेते है.

जिससे होगा ये की Offline भी लोग बड़ी आसानी से आपकी दुकान तक पहुच सकते है. उसके लिए आपको उस जगह के हिसाब से अपनी Site का SEO Optimize करना होगा और इसी चीज को “Local SEO” कहा जाता है.

 आज अपने क्या शिखा

दोस्तों में आसा करता हूँ की की आपको हमारी SEO क्या है? ये पोस्ट आपको पढने के बाद अच्छी लगी होगी. और आपको ये भी समझ आया होगा की What is SEO in Hindi इसके बारे में पूरी जानकारी मिल चुकी होगी.

आपको हमारा ये Article अच्छा लगा होगा आप इसको अपने दोस्तों घर वालो और Social Mediaपर Shear कर सकते है. और हम आपके लिए अच्छे पोस्ट पढने के लिए लाते रहते है जिससे आपकी Knowledge बडती रहे.

यदि आपके मन में किसी भी प्रकार का कोई भी सवाल चल रहा हो आप हमसे Comment के जरिये पूछ सकते है. और हमारी याकि कोशिश रहती है की आपके पूछे गए सभी सवालो का जल्द से जल्द जवाब दे सके.

1 thought on “SEO क्या है? और SEO कैसे काम करता है | What is SEO in Hindi”

Leave a Comment