What is guru Purnima in Hindi | गुरु पूर्णिमा क्या हैं।

Hello and नमस्कार दोस्तों कैसे हें आप लोग  Dosto  आप सभी का स्वागत है। आप के अपने blog Hindilaksh में आज हम आप  को ऐसे त्यौहार के बारे में बताने जा रहे है। जिन के बिना किसी व्यक्ति को ज्ञान की प्राप्ति नहीं हो सकती है हाँ जी हम बात कर रहे है what is guru Purnima in Hindi यानी गुरु की शिक्षा के बारे में किस प्रकार गुरुओ ने लोगो को ज्ञान सिखाया इसी के उपरांत इस पर्व को मनाया जाता है।

1.What is guru purnima in hindi | गुरु पूर्णिमा क्या हैं।

               

 
What is guru Purnima in Hindi के दिन हम अपने गुरुओ की पूजा करते है जिन से हमे जीवन में कुछ ना कुछ हासिल करने के काबिल बनाया और हमें एक सही रहा दिखाई। जिस कारण जीवन में सही फेसले ले और सत्य का हमेशा साथ दे सके। ताकि हम सही गलत का मतलब समझ सके और सत्य की ओर चले और कभी कभी जीवन में कुछ ऐसे पल आ जाते है और उस वक़्त हमें गुरु ही रास्ता दिखा है।  क्यूकि Guru को हमारे अच्छे और बुरे का पूर्ण अनुभव होता है। और Guru purnima इस लिए भी मनाई जाती है क्यूकि इस दिन द्वैपायन व्यास जी का जन्म हुआ था जिन्हे चारो वेदो  के ज्ञान की रचना की थी और संत घीसादास का जन्म जन्म भी हुआ था।

2. When guru purnima comes गुरु पूर्णिमा कब की है ?

                                    

Guru purnima kab ki hai इस साल guru purnima sunday 5 july असाढ़ महीने में मनाई जाएगी।

Guru purnima शुरू :  11:33 AM  on july 4 2020 

Guru purnima सामाप्त : 10 :13 AM on july 5 2020                                                                                         

3 .हम गुरु पूर्णिमा क्यों मनाते हैं Why we celebrate Guru purnima

 

Why we celebrate Guru purnima आज के दिन को What is guru Purnima in Hindi रूप में मनाया जाता हैं। क्यूकि की गुरु का बहुत बड़ा सहयोग होता है हमारे जीवन में। आप ने तो सुना ही होगा की बिना Guru ज्ञान नहीं मिलता। एक वक़्त था की जब भगवन भी गुरुओ से शिक्षा प्राप्त किया करते थे। और तो और गुरुओ का स्थान भगवान से भी अधिक माना गया हैं। पर जब कोई व्यक्ति जानजन्म लेता है तो उस के सब से पहले Guru उस के माता -पिता होते है इसी लिए कहते है की बिना Guru के हमारे जीवन का कोई उद्देश्य नहीं होता है गुरु ही व्यक्ति को सही रहा पे ला सकता है।

4. गुरु पूर्णिमा का क्या अर्थ हैं  What is meaning of guru purnima

शास्त्रों के अनुसार माना जाता है की गु का मतलब अज्ञान और अंधकार माना गया है रु को अंधकार को मिटा कर रौशनी को बताया गया है अर्थात उजाले की तरफ ले जाये उसी को Guru कहा गया है इसी लिए गुरु को भगवन से भी ऊचा दर्जा दिया गया हैं। 
 

5.गुरु पूर्णिमा कब मनाई जाती हैं When Guru purnima is celebrated

 

खास तोर पे गुरु पूर्णिमा को आषाढ़ महीने यानी ऐसे महीने में मनाया जाता है जिन महीने ना ज्यादा शर्दी होती है और ना ही ज्यादा गर्मी होती हैं। आषाढ़ के महीने में इसी लिए भी मनाया जाता है क्योकि इन महीनो में Guruo तथा ऋषियों को धुप और गर्मियों का ज्यादा प्रभाव नहीं पड़ता है और वे गांव गांव जा के लोगो में ज्ञान बाटते है और और ज्ञान का सागर बहते हैं और साथ ही गुरुओ के यग में किसी प्रकार की कोई बाधा नहीं आती हैं

6 .गुरु का महत्व Importance of teacher

 

कबिर दास का दोहा : गुरु गोविन्द दोऊ खड़े ,काके लांगू पांय।
                                   बलिहारी गुरु आपने गोविन्द दियो बताय।
इस दोहे का अर्थ है :   इस दोहे का मतलब है Guru और भगवान एक साथ खड़े है तो हमें किसे प्रथम प्रणाम करना चाहिए। और कबीर जी का कहना है की गुरु के चरणों में शीष झुकाना उत्तम माना गया है। क्योकि  गुरु की किरपा से ही भगवान के दर्शन पाने का सौभाग्य प्राप्त होता हैं।

7. गुरु पूर्णिमा का महत्व Importance of guru purnima

 

Guru अपने शिष्यों को शिक्षा देके एक नया जन्म देते हैं। और गुरु अपने शिष्यों की सारी  गलितयां अथवा दोष  माफ़ कर देते है। और गुरु का महत्व सभी प्रकार से सही माना जाता है हमारे जीवन में कोई भी Guru हो सकता है चाहे वह  व्यक्ति छोटा हो या फिर बड़ा। यानी कोई भी व्यक्ति हमें किसी भी सकरात्मक प्रकार का ज्ञान देता है। उसे गुरु का स्थान दिया जाता है और इसी लिए हमें उस इंसान का सम्मान करना चाहिये।

8. गुरु पूर्णिमा की पूजा विधियाँ Guru purnima worship rules

  1. Guru purnima के दिन सुबह जल्दी उठ कर स्नान किया जाता है।
  2. अपने गुरुओ की तस्वीर आदि को एकअच्छे स्थान पर रखा जाता है।
  3. तस्वीर पर फूलो की माला कपड़े फल आदि चढ़ाए जाते है और साथ ही कुछ पैसे (धन ) आदि भी शमर्पित किये जाते हैं।
  4. आप इस दिन अपने माता -पिता और घर के सभी बड़े सदाशयो की पूजा कर सकते है। क्योकि आप को पहेली शिक्षा उन्ही से प्राप्त हुई है।
  5. गुरु पूर्णिमा के दिन वैद व्यास जी के ग्रन्थों को पढ़ कर उन्हें अपने जीवन में उपयोग करना चाहिये।
  6. Guru purnima के दिन आप पानी में गंगा जल मिलाके या किसी तीर्थ स्थान पे जा के स्नान करते है तो इसे बहुत ही शुभ मन जाता हैं।
  7. आप इस दिन अपने पित्रो की पूजा करते है तो इसे भी अच्छा माना जाता हैं।
  8. गुरु पूर्णिमा के  दिन आप भ्रमण और गरीबो को दान आदि देते है तो इसे बहुत ही लाभ दायक माना जाता हैं

9. गुरु पूर्णिमा के दिन सावधानियाँ Precuation for day of Guru purnima

  1. बिना किसी स्वर्थ के जितना हो सके उतना दान करे।
  2. What is guru Purnima in Hindi को अंध विश्वाश के तौर पे नहीं मानना चाहिए।
  3. गुरु और बड़े बुढो का हमेशा सम्मान करना चाहिए।
  4. गुरु पूर्णिमा को श्रद्दा पूर्वक मनाना चाहिए।
  5. किसी व्यक्ति और जानवर को दुःख ना पहुँचाये।
  6. सदा अपने कर्मो को सच्चाई की ओर ले जाये।
  7. अगर आप जीवन में फल पाना चाहते है तो आप को अपने कर्मो को अच्छा रखना होगा।
गुरुर ब्रह्मा गुरुर विष्णु गुरुर देवो महेश्वरा गुरुर साक्षात् परब्रहमा तस्मै श्री गुरुवे नमः 
 
अर्थात : गुरु को भ्रमा गुरु को विष्णु और गुरु को ही महेश को ही शकसात माना गया हैं। और में आप के सामने पूर्ण  रूप से समान और आदर के साथ नमन करता हूँ।

आज आपने क्या शिखा

दोस्तों में आसा करता हूँ की की आपको हमारी What is guru purnima in hindi ये पोस्ट आपको पढने के बाद अच्छी लगी होगी. और आपको ये भी समझ आया होगा की  गुरु पूर्णिमा क्या हैं इसके बारे में पूरी जानकारी मिल चुकी होगी.

आपको हमारा ये Article अच्छा लगा होगा आप इसको अपने दोस्तों घर वालो और Social Mediaपर Shear कर सकते है. और हम आपके लिए अच्छे पोस्ट पढने के लिए लाते रहते है जिससे आपकी Knowledge बडती रहे.

यदि आपके मन में किसी भी प्रकार का कोई भी सवाल चल रहा हो आप हमसे Comment के जरिये पूछ सकते है. और हमारी याकि कोशिश रहती है की आपके पूछे गए सभी सवालो का जल्द से जल्द जवाब दे सके.

3 thoughts on “What is guru Purnima in Hindi | गुरु पूर्णिमा क्या हैं।”

Leave a Comment